समास - परिभाषा, भेद और उदाहरण
दोस्तों के साथ शेयर करें

समास – परिभाषा, भेद, और उदाहरण Samas In Hindi

नमस्कार दोस्तों Hindi-Exam.Com पर आपका स्वागत है, इस पोस्ट में आज हम आपको Hindi Vyakaran Class 10 का समास – परिभाषा, भेद और उदाहरण का संपूर्ण ऑब्जेक्टिव क्वेश्चन देने जा रहे हैं। जैसा की आप जानते है कि आजकल Hindi Vyakaran Exam में बहुत ज्यादा समास – परिभाषा, भेद और उदाहरण पूछा जा रहा है | इसी को ध्यान में रखते हुए हम आपके के लिए समास – परिभाषा, भेद और उदाहरण के ऐसे Objective Question लाये है, जो आपके आनेवाले Exam के लिए बहुत ही फायदेमंद साबित होगा | इसीलिए हमारी सलाह है की दिए गये Bihar Board Hindi Vyakaran Class 10 ध्यान से पढ़े ! बार- बार पढ़े जिस से आपकी तैयारी अच्छी हो |
अगर आपको हिंदी व्याकरण ऑब्जेक्टिव क्वेश्चन की सम्पूर्ण जानकारी चाहिए तो यह पोस्ट अंत तक पढ़े। इस पोस्ट में हमने समास के हर एक Objective Question को अच्छे से बताया है !

समास

समास का अर्थ है ‘संक्षिप्तीकरण’। जब दो या दो से अधिक शब्द मिलकर एक नए एवं सार्थक शब्द का निर्माण करते है, तो उसे ही समास कहते है ! उदहारण :- घोड़े पर सवार – घुड़सवार, राजा का पुत्र – राजपुत्र इत्यादि !

समास के मुख्यतः छः भेद होते है ! जो निम्न है !

1. तत्पुरुष समास

इस समास का उत्तरपद प्रधान होता है, तथा पूर्वपद गौण अर्थात इसमें प्रथम पद विशेषण तथा द्वितीय पद विशेष्य होते हैं। द्वितीय पद के विशेष्य होने के कारण समास में इसकी प्रधानता होती है व समास करते वक़्त बीच की विभक्ति का लोप हो जाता है।

2. अव्ययीभाव समास

इस समास में पहला या पूर्वपद अव्यय और संज्ञा के योग से बनता है , और उसका अर्थ प्रधान होता है। अव्यय के संयोग से समस्तपद भी अव्यय बन जाता है। इसमें पूर्वपद प्रधान होता है। उदाहरण-आजन्म: जन्म से लेकर, रातों रात = रात ही रात में आदि |

3. कर्मधारय समास

वैसा समास जिसका उत्तरपद प्रधान हो और प्रथमपद व उत्तरपद में विशेषण-विशेष्य या उपमान-उपमेय का संबंध हो, अर्थात पहला पद विशेषण एवं दूसरा पद विशेष्य होता है, उसे कर्मधारय समास कहते है !
उदहारण -नरसिंह अर्थात नरों में सिंह के समान, नीलगगन अर्थात नीला है जो गगन आदि !

4. द्विगु समास

इस समास का प्रथमपद संख्यावाचक विशेषण होता है,अर्थात जिसे गिना जा सकता है , इस समास में प्रयुक्त संख्या किसी समूह को दर्शाती है किसी अर्थ को नहीं। इससे समूह और समाहार का बोध होता है। उसे द्विगु समास कहते हैं। उदहारण-पंचतंत्र = पांच तंत्रों का समाहार, सप्ताह = सात दिनों का समूह आदि |

5. द्वंद समास

इस समास की समस्त दोनों पद प्रधान होती है और इसमें किसी भी पद का गौण नहीं होता है। , तथा विग्रह करने पर ‘और’,‘अथवा‘ ,‘या’ ,‘एवं’ लगता हो वह द्वंद समास कहलाता है। उदहारण-अन्न – जल = अन्न और जल, धन-दौलत = धन और दौलत आदि

6. बहुब्रीहि समास

जब दो पद आपस में मिलकर तीसरा पद निर्मित करते है,तथा वह (तीसरा) पद प्रधान होता है, अर्थात तीसरे पद की प्रधानता को व्यक्त करते है ,इसीलिए इस समास में कोई भी पद प्रधान नहीं होता, इसे ही बहुब्रीहि समास कहते है | उदहारण-त्रिनेत्र = तीन नेत्र हैं जिसके, गजानन = गज का आनन है जिसका आदि !

1. ‘अष्टाध्यायी’ में कौन-सा समास है?
(A) द्विगु
(B) अव्ययीभाव
(C) बहुब्रीहि
(D) नञ्
[उत्तर : (A)]

2. ‘लौहपुरुष’ में कौन-सा समास है?
(A) द्वंद्व
(B) नञ्
(C) कर्मधारय
(D) द्विगु
[उत्तर : (C)]

3. ‘आजन्म’ में कौन-सा समास है?
(A) अव्ययीभाव
(B) कर्मधारय
(C) द्विगु
(D) द्वंद्व
[उत्तर : (A)]

4. ‘जन्म-मरण’ में कौन-सा समास है?
(A) द्वंद्व
(B) द्विगु
(C) तत्पुरुष
(D) बहुब्रीहि
[उत्तर : (A)]

5. ‘चन्द्रमुख’ में कौन-सा समास है
(A) अव्ययीभाव
(B) तत्पुरुष
(C) कर्मधारय
(D) बहुव्रीहि
[उत्तर : (C)]

6. ‘लम्बोदर’ में कौन-सा समास है
(A) अव्ययीभाव
(B) तत्पुरुष
(C) कर्मधारय
(D) बहुव्रीहि
[उत्तर : (D)]

7. ‘राजा-रानी में कौन-सा समास है
(A) अव्ययीभाव
(B) द्वंद्व
(C) कर्मधारय
(D) बहुव्रीहि
[उत्तर : (B)]

8. ‘धीरे-धीरे’ में कौन-सा समास है
(A) अव्ययीभाव
(B) तत्पुरुष
(C) कर्मधारय
(D) बहुव्रीहि
[उत्तर : (A)]

9. ‘गगनचुंबी’ में कौन-सा समास है !
(A) अव्ययीभाव
(B) तत्पुरुष
(C) कर्मधारय
(D) बहुव्रीहि
[उत्तर : (B)]

10. ‘अष्टधातु’ में कौन-सा समास है
(A) अव्ययीभाव
(B) तत्पुरुष
(C) द्विगु
(D) बहुव्रीहि
[उत्तर : (C)]

11. ‘एड़ी-चोटी’ में कौन-सा समास है
(A) अव्ययीभाव
(B) तत्पुरुष
(C) कर्मधारय
(D) द्वंद्व
[उत्तर : (D)]

12. ‘आपादमस्तक’ में कौन-सा समास है।
(A) अव्ययीभाव
(B) तत्पुरुष
(C) कर्मधारय
(D) बहुव्रीहि
[उत्तर : (A)]

13. ‘परोक्ष में कौन-सा समास है
(A) अव्ययीभाव
(B) तत्पुरुष
(C) कर्मधारय
(D) बहुव्रीहि
[उत्तर : (A)]

14. ‘भरपेट’ में कौन-सा समास है
(A) अव्ययीभाव
(B) तत्पुरुष
(C) कर्मधारय
(D) बहुव्रीहि
[उत्तर : (A)]

18. ‘पाकिटमार’ में कौन-सा समास है
(A) अव्ययीभाव.
(B) तत्पुरुष
(C) कर्मधारय
(D) बहुव्रीहि
[उत्तर : (B)]

16. ‘मुँहतोड़’ में कौन-सा समास है।
(A) अव्ययीभाव
(B) तत्पुरुष
(C) कर्मधारय
(D) बहुव्रीहि
[उत्तर : (B)]

17. ‘गगनचुंबी’ में कौन-सा समास है।
(A) अव्ययीभाव
(B) तत्पुरुष
(C) कर्मधारय .
(D) बहुव्रीहि
[उत्तर : (B)]

18. ‘कामचोर’ में कौन-सा समास है
(A) अव्ययीभाव
(B) तत्पुरुष
(C) कर्मधारय
(D) बहुव्रीहि
[उत्तर : (B)]

19. ‘मुँहमाँगा’ में कौन-सा समास है।
(A) अव्ययीभाव
(B) तत्पुरुष
(C) कर्मधारय
(D) बहुव्रीहि
[उत्तर : (B)]

20. ‘मुँहचोर’ में कौन-सा समास है।
(A) अव्ययीभाव
(B) तत्पुरुष
(C) कर्मधारय
(D) बहुव्रीहि
[उत्तर : (B)]

21. ‘गंगाजल’ में कौन-सा समास है
(A) अव्ययीभाव
(B) तत्पुरुष
(C) कर्मधारय
(D) बहुव्रीहि
[उत्तर : (B)]

22. ‘पुस्तकालय’ में कौन-सा समास है
(A) अव्ययीभाव
(B) तत्पुरुष
(C) कर्मधारय
(D) बहुव्रीहि
[उत्तर : (B)]

23. ‘न्यायालय में कौन-सा समास है
(A) अव्ययीभाव
(B) तत्पुरुष
(C) कर्मधारय
(D) बहुव्रीहि
[उत्तर : (B)]

24. ‘राजभवन में कौन-सा समास है
(A) अव्ययीभाव
(B) तत्पुरुष
(C) कर्मधारय
(D) बहुव्रीहि
[उत्तर : (B)]

25. ‘यथाशक्ति ‘ में कौन-सा समास है
(A) अव्ययीभाव
(B) तत्पुरुष
(C) कर्मधारय
(D) बहुव्रीहि
[उत्तर : (A)]

26. ‘हाथो-हाथ में कौन-सा समास है
(A) अव्ययीभाव
(B) तत्पुरुष
(C) कर्मधारय
(D) बहुव्रीहि
[उत्तर : (A)]

27. ‘रामायण में कौन-सा समास है
(A) अव्ययीभाव
(B) तत्पुरुष
(C) कर्मधारय
(D) बहुव्रीहि
[उत्तर : (B)]

28. ‘विद्यार्थी में कौन-सा समास है।
(A) अव्ययीभाव
(B) तत्पुरुष
(C) कर्मधारय
(D) बहुव्रीहि
[उत्तर : (B)]

29. ‘नीलकमल’ में कौन-सा समास है
(A) अव्ययीभाव
(B) तत्पुरुष
(C) कर्मधारय
(D) बहुव्रीहि
[उत्तर : (C)]

30. ‘धर्मविमुख’ में कौन-सा समास है
(A) तत्पुरुष
(B) कर्मधारय
(C) अव्ययीभाव
(D) बहुव्रीहि
[उत्तर : (A)]

31. ‘शंखनाद’ में कौन-सा समास है
(A) तत्पुरुष
(B) कर्मधारय
(C) अव्ययीभाव
(D) बहुव्रीहि
[उत्तर : (C)]

32. ‘चन्द्रशेखर’ में कौन-सा समास है
(A) द्विगु
(B) बहुव्रीहि
(C) कर्मधारय
(D) द्वंद्व
[उत्तर : (B)]

33. ‘वीणापाणि में कौन-सा समास है।
(A) द्विगु
(B) बहुव्रीहि
(C) कर्मधारय
(D) द्वंद्व
[उत्तर : (B)]

34. ‘लोटा-डोरी’ में कौन-सा समास है
(A) अव्ययीभाव
(B) तत्पुरुष
(C) कर्मधारय
(D) बहुब्रीहि
[उत्तर : (D)]

35. ‘सभाभवन में कौन-सा समास है
(A) अव्ययीभाव
(B) तत्पुरुष
(C) कर्मधारय
(D) बहुव्रीहि
[उत्तर : (B)]

36. ‘शोकाकुल’ में कौन-सा समास है ।
(A) अव्ययीभाव
(B) तत्पुरुष
(C) कर्मधारय
(D) बहुव्रीहि
[उत्तर : (B)]

37. ‘दशमुख’ में कौन-सा समास है
(A) अव्ययीभाव
(B) तत्पुरुष
(C) कर्मधारय
(D) बहुव्रीहि
[उत्तर : (D)]

38. ‘नीलाम्बर’ में कौन-सा समास है
(A) अव्ययीभाव
(B) तत्पुरुष
(C) कर्मधारय
(D) बहुव्रीहि
[उत्तर : (D)]

39. ‘हिमालय’ में कौन-सा समास है
(A) अव्ययीभाव
(B) तत्पुरुष
(C) कर्मधारय .
(D) बहुव्रीहि
[उत्तर : (B)]


दोस्तों के साथ शेयर करें

Leave a Comment

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!