Bihar Board Hindi 10th Objective
दोस्तों के साथ शेयर करें

Bihar Board Hindi 10th Objective – पाठ 2 – प्रेम-अयनि श्री राधिका

नमस्ते दोस्तों , इस पोस्ट में हमने Bihar Board Hindi 10th के (गोधूली भाग-2 काव्य खण्ड) के पाठ प्रेम-अयनि श्री राधिका का सम्पूर्ण Objective Question- Answer दिया है | जो की BSEB (Bihar Board) Class 10th के हिंदी परीक्षा में कई बार पूछे गये है, ये सभी Objective Question बहुत ही महत्वपूर्ण है |

1. कवि ने माली-मालिन किसे कहा है?
(A) शंकर-पार्वती
(B) गणेश-लक्ष्मी
(C) कृष्ण-राधा
(D) राम-सीता
[उत्तर : (C)

2. रसखान के रचनाकाल के समय किसका राज्यकाल था?
(A) अकबर
(B) हुमायूँ
(C) जहाँगीर
(D) औरंगजेब
[उत्तर : (C)

3. रसखान ने ‘प्रेम-अयनि’ किसे कहा है?
(A) कृष्ण
(B) सरस्वती
(C) राधा
(D) यशोदा
[उत्तर : (C)

4. निम्न में कौन-सा ग्रंथ रसखान का है?
(A) जपुजी
(B) प्रेमवाटिका
(C) सोहिला
(D) विरहलीला
[उत्तर : (B)

5. “रसखान” जी किसकी भक्ति किया करते थे?
(A) कृष्ण
(B) राम
(C) विष्णु
(D) शंकर
[उत्तर : (A)

6. “इन मुसलमान हरिजन पै, कोटिन हिन्दू वारिये” यह किस कवि के लिए कहा गया है?
(A) कबीरदास
(B) मलिक मुहम्मद जायसी
(C) रहीम
(D) रसखान
[उत्तर : (D)]

7. रसखान द्वारा रचित ग्रंथ है
(A) वाटिका
(B) प्रेमवाटिका
(C) आनंद वाटिका
(D) रस वाटिका
[उत्तर : (B)]

8. रसखान के ईष्ट थे
(A) भगवान श्रीराम
(B) भगवान शिव
(C) भगवान श्रीकृष्ण
(D) भगवान विष्णु
उत्तर : (C)]

9. “सुजान रसखान’ के रचनाकार हैं
(A) घनानंद
(B) रसखान
(C) प्रेमघन
(D) अज्ञेय
[उत्तर : (B)]

10. रसखान को गोस्वामी विट्ठलनाथ ने किस मार्ग में दीक्षा दी?
(A) प्रेम मार्ग में
(B) भक्ति मार्ग में
(C) पुष्टि मार्ग में
(D) संतमार्ग में
[उत्तर : (C)]

Bihar board 10th ‘राम-नाम-बिनु-बिरथे’ सम्पूर्ण पाठ Objective

11. रसखान किस प्रकार की रचना में सिद्ध थे?
(A) दोहा
(B) सोरठा
(C) कवित्त
(D) सवैया छंद
[उत्तर : (D)]

12. सवैये में रसखान की कैसी आकांक्षा प्रकट है?
(A) मुक्ति की
(B) भगवत्-प्राप्ति की
(C) ब्रजभूमि निवास की
(D) स्वर्ग-प्राप्ति की
उत्तर : (C)

13. रसखान ने चितचोर किसे कहा है?
(A) गोपियों को
(B) कृष्णभक्तों को
(C) ग्वाल-बाल को
(D) श्रीकृष्ण को
[उत्तर : (D)]

14. ‘लकुटी’ का अर्थ है
(A) मुरली .
(B) माखन
(C) छोटी लाठी
(D) लट्ट
[उत्तर : (C)]

15. कवि रसखान ने प्रेम-बरन किसे कहा है?
(A) नंद बाबा को.
(B) यशोदा मैया को
(C) गोपियों को
(D) श्रीकृष्ण को
[उत्तर : (D)]

16. ‘नंदनंद’ किसे कहा गया है?
(A) नंद बाबा को
(B) बलराम को
(C) श्रीकृष्ण को
(D) ग्वाल-बालकों को
[उत्तर : (C)]

17. ‘अयनि’ का अर्थ है
(A) आँख
(B) प्रेम
(C) सखी
(D) खजाना
[उत्तर : (D)]

18. ‘प्रेम-वाटिका’ किस प्रकार की रचना है?
(A) भक्ति संबंधी
(B) प्रेम-निरूपण संबंधी
(C) आत्मज्ञान संबंधी
(D) निराकार-ब्रह्म संबंधी
[उत्तर : (B)]

19. ‘सुजान रसखान’ किस प्रकार की रचना है? ।
(A) सुजान संबंधी
(B) प्रेम-निरूपण संबंधी
(C) सगुण-भक्ति संबंधी
(D) कृष्ण की भक्ति संबंधी
उत्तर : (D)]

20. कवि रसखान ने अपने दो में ‘बेमन’ किसे कहा है?
(A) श्रीकृष्ण को
(B) ग्वाल बालों को
(C) यशोदा को
(D) भक्त के रूप में स्वयं को
[उत्तर : (D)]

21. कौन-सी कृति रसखान की नहीं है?
(A) प्रेम-फुलवारी
(B) प्रेम वाटिका
(C) अष्टधाम
(D) सुजान रसखान
[उत्तर : (A)]

22. किसने कहा था-‘इन मुसलमान हरिजनन पै कोटि हिन्दू वारिये’?
(A) निराला
(B) भारतेन्दु हरिश्चन्द्र
(C) रामविलास शर्मा
(D) रामचन्द्र शुक्ल [उत्तर : (B)]

23. ‘मनमानिक’ में कौन-सा अलंकार है?
(A) उपमा
(B) उत्प्रेक्षा
(C) रूपक
(D) श्लेष
[उत्तर : (C)]

24. ‘रसखान को किसने दीक्षा दी?
(A) वल्लभाचार्य
(B) गोकुलनाथ
(C) गोस्वामी विट्ठलनाथ
(D) गोरखनाथ
[उत्तर : (C)]

25. ‘रसखान’ किस काल के कवि हैं?
(A) आदिकाल
(B) रीतिकाल
(C) आधुनिककाल
(D) भक्तिकाल
[उत्तर : (D)]

26. ‘प्रेम अयनि श्री राधिका में कितने दोहे संकलित हैं?
(A) दो
(B) तीन
(C) चार
(D) पाँच
[उत्तर : (C)]

27. ‘करील के कुंजन ऊपर वारौं’ के अन्तर्गत कितने सवैया संकलित हैं?
(A) एक
(B) दो
(C) तीन
(D) चार
[उत्तर : (A)]

28. इस पाठ में ‘चितचोर’ किसे कहा गया है?
(A) राधा को
(B) श्रीकृष्ण को
(C) रसखान को
(D) भारतेन्दु हरिश्चन्द्र को
[उत्तर : (B)]

29. रसखान हिन्दी के लोकप्रिय कवि हैं ।
(A) सामाजिक
(B) धार्मिक
(C) व्यंग्यात्मक
(D) जातीय
[उत्तर : (D)]

30. स्वामी विट्ठनाथ ने रसखान को कहाँ दीक्षा दी?
(A) वाटिका में
(B) झोपड़ी में
(C) पुष्टिमार्ग में
(D) गुफा में
[उत्तर : (C)]

31, रसखान ने श्रीकृष्ण का लीलागान किसमें किया है?
(A) सवैयों में
(B) सोरठों में
(C) पदों में
(D) इन सभी में
उत्तर : (A)]

32. आधुनिक काल के साहित्यकार हैं
(A) रसखान
(B) रैदास
(C) विट्ठलनाथ
(D) भारतेन्दु हरिश्चन्द्र
[उत्तर : (D)]

33. “प्रेम-वरन’ का अर्थ है
(A) प्रेम का वर्णन करना
(B) प्रेम के रंग
(C) प्रेम की पूजा करना
(D) प्रेम का अंधा होना
[उत्तर : (B)] |

Bihar board 10th ‘अति सूधो सनेह को मारग है’ सम्पूर्ण पाठ Objective


दोस्तों के साथ शेयर करें

Leave a Comment

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!